Header Ads

राजनांदगाव में 24 हजार बच्चों ने एक साथ कर्मा नृत्य करके बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड




छत्तीसगढ़ के सोमनी, राजनांदगांव में लगे तीसरी राज्य स्तरीय स्काउट-गाइड जंबूरी कैंप में 30 दिसंबर 2017 शनिवार को इतिहास बन गया। एक साथ 24 हजार से अधिक स्काउट-गाइड के बच्चों ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति पर आधारित करमा लोक नृत्य की प्रस्तुति देकर गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया। जिसमें छग व नेपाल, भूटान सहित अन्य प्रदेशों से आए स्काउट-गाइड बच्चों ने भी शानदार प्रस्तुति दी। साथ ही बच्चों ने अपने आस-पास स्वच्छता रखने की शपथ भी ली।

गोल्डन बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के एशिया हेड डॉ. मनीष बिश्नोई ने सर्टिफिकेट देते हुए कहा कि इतने सारे बच्चों ने एक साथ ऐसा प्रदर्शन किया जिसके बारे में सोचना भी कठिन है। बच्चों के साथ सांसद अभिषेक सिंह एवं पूर्व सांसद सरोज पांडे भी झूमे।


नेपाल, भूटान और अन्य प्रदेशों के बच्चों ने भी सीखा करमा नृत्य फिर जंबूरी में थिरके


कैंप में बच्चों ने पहले करमा नृत्य करना सीखा। इसके पश्चात शनिवार को 24000 बच्चों ने एक लय में करमा नृत्य की आकर्षक प्रस्तुति दी। सांसद अभिषेक सिंह ने कहा कि करमा नृत्य से हमारी सांस्कृतिक समृद्धि की झलक मिलती है। पूर्व सांसद डॉ. सरोज पांडे ने कहा कि आज हजारों बच्चों को करमा नृत्य के लिए एकत्रित होते हुए देखा। इस अवसर पर इन बच्चों ने स्वच्छता संबंधी शपथ भी ली। बच्चों ने शपथ लिया कि वे हमेशा स्वच्छता के नियमों का पालन करेंगे। अपने परिवेश को स्वच्छ रखेंगे। रविवार को स्काउट के दस हजार बच्चे राजनांदगांव में सफाई अभियान के लिए निकलेंगे।

दस मिनट की शानदार प्रस्तुति के बाद गोल्डन बुक आफ द वर्ल्ड रिकॉर्ड के एशिया हेड डॉ. मनीष विश्नोई ने जजमेंट किया, लेकिन घोषणा से पहले सबकी धड़कनें बढ़ी हुई थी। डॉ. विश्नोई ने कहा कि गोल्डन बुक का मापदंड कठिन होता है। किसी भी परफार्मेंस में कई चीजें आब्जर्व करते हैं। लेकिन सभी पैरामीटर में बच्चों ने कमाल की प्रस्तुति दी। एक साथ एक लय में प्रस्तुति देना मुश्किल है।

एक महीने से तैयारी

कर्मा नृत्य में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की तैयारी एक महीने पहले से ही चल रही थी। कोरियोग्राफर सुनील तिवारी ने सभी बच्चो को डांस स्टेप्स सिखाये।

पारम्परिक वेशभूषा में थे बच्चे

कर्मा नृत्य के वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए सभी बच्चो को पारम्परिक वेशभूषा पहनाई गयी थी। पारम्परिक गहने सभी बच्चो ने मिलकर कैंप में ही तैयार किया था।

मंडला में 4 हज़ार लोगो का रिकॉर्ड 

इससे पहले मध्यप्रदेश के मंडला जिले में 4 हजार लोगों ने एक साथ मिलकर कर्मा निर्त्य करके गोल्डन बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम में दर्ज़ कराया था।


इसके अलावा स्काउट और गाइड के 24 हजार छात्र छात्राओं ने एक साथ बाए हाथ से हाथ मिलाकर (हैंड शेक) वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है।

वर्ल्ड रिकार्ड के अधिकारियों मौजूदगी में दोनों रिकॉर्ड दर्ज कर प्रमाण पत्र दिए गए। स्काउट एंड गाइड छत्तीसगढ़ के आयुक्त गजेन्द्र यादव का कहना है कि बाएं हाथ से हाथ मिलाने से दिल से दिल मिलता है। बाये तरफ शरीर के हृदय भी होता है इसिलए स्कॉउट और गाइड के द्वारा बाए हाथ से हाथ मिलाने नियम है।

एक दिन पहले कैंप में डांस का अभ्यास करते गिरने से छात्रा भिलाई वैशाली नगर की प्रांशी गुप्ता की हार्ट अटैक से मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने दूसरे दिन व्यवस्था सुधारी। स्टॉफ की संख्या भी बढ़ाई। इसके अलावा ब्लड टेस्ट, मलेरिया व अन्य जांच की व्यवस्था भी दुरस्त की। व्यवस्था बढ़ने के साथ अस्थाई 30 बिस्तर अस्पताल में मरीजों की संख्या भी बढ़ी।

वीडियो देखें


No comments